छोटी सी जान चूतो का तूफान

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit seccaraholic.website
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: छोटी सी जान चूतो का तूफान

Unread post by rajaarkey » 29 Dec 2014 04:04

Jemsbond wrote:KEEP POSTING.
Jemsbond wrote:अच्छी पोस्ट है

dhanywad dost

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: छोटी सी जान चूतो का तूफान

Unread post by rajaarkey » 29 Dec 2014 04:05



साहिल: (खीजते हुए) तुम मुझे क्यों चिढ़ा रही हो….मैने सच मे तुम्हारा दूध पी लेना है….

पायल: तो पी ले ना.मेने रोका है तुझे ?

साहिल: चाची मैने सच मे पी लेना है,

पायल: अच्छा हमारे लाडो को गुस्सा भी आता है…चल पी के दिखा.. मैं भी तो देखूं.कितना गुस्सा है तुझमे…

ये कहते हुए पायल वंश को अपने आगे से उठा कर बेड के दूसरी तरफ लेटा देती है, और साहिल की तरफ खिसकते हुए उसके पास आकर पीठ के बल लेटते हुए अपनी ब्रा को पूरा ऊपेर उठा देती है, जैसे ही पायल ने अपनी ब्रा ऊपेर उठाई, उसका दूसरा मम्मा भी उछल कर बाहर आ गया…

साहिल बड़ी हैरानी से पायल के बड़े-2 मम्मे देख रहा था..उसका लंड उसकी पेंट मे टाइट होने लगा….पायल के मम्मो के काले रंग के निपल इतने मोटे और लंबे थे कि, उन्हे देख कर साहिल का गला सूखने लगा….निपल के चारो और बड़े-2 डार्क ब्राउन कलर के घेरे बने हुए थे. गीता के वो गहरे निपल पायल से बहुत छोटे थे….

पायल: है हिम्मत तो पीकर दिखा अब…..

साहिल: (थोड़ा सा घबरा गया) नही मुझे नही पीना…..

पायल: डर गया हमारा लड्डू डर गया…

साहिल: मैं नही डरता किसी से….

पायल: (अपने मम्मो को निपल्स को थोड़ा सा पीछे से दबाने लगी, जिससे उसके निपल तीखे होकर और बाहर आ गये…) अच्छा जी डर तो रहे हो तुम.

साहिल: मैं सच बोल रहा हूँ मैने पी भी लेना है…

पायल: (हंसते हुए) तो पी ले ना…..(और अपने निपल्स को दबा कर साहिल को दिखाने लगी)

साहिल एक दम से बेड पर चढ़ गया, और पायल के ऊपेर झुकते हुए, उसकी आँखों मे देखने लगा “मैं सच मे पी लेना है” और फिर पायल के जवाब का इंतजार करता है….

पायल: (वासना से भरी आँखों से साहिल की ओर देखते हुए) पी ले ना इसीलिए तो बाहर निकाल कर रखे है….

साहिल हिम्मत करके, पायल के राइट मम्मे के ऊपेर झुकने लगता है…पायल ने ये देख कर अपने हाथ को अपने निपल से हटा लिया, और अपने मम्मे को पीछे से दबाते हुए, निपल को और नॉकदार बना लिया…फिर अचानक गप्प से पायल के राइट मम्मे का निपल साहिल के मूह के अंदर चला गया….

पायल साहिल की गरम जीभ को अपने निपल पर महसूस करते हुए, एक दम से सिसक उठी, और साहिल के सर के पीछे अपने दोनो हाथों को लेजाकार उसके बालो को सहलाने लगी…”उंह सीईईईईई” एक **** साल के लड़के और कुछ महीने के बच्चे से दूध चुसवाने मे क्या फरक होता है, ये पायल को अब पता चल रहा था….

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: छोटी सी जान चूतो का तूफान

Unread post by rajaarkey » 29 Dec 2014 04:06


साहिल के मूह का दबाव पायल के मम्मे पर वंश के मूह के दबाव से कही ज़्यादा था….जब साहिल पूरे ज़ोर के साथ पायल के मम्मे के निपल को चूस्ता, तो दूध की मोटी धार साहिल के मूह मे चली जाती….और पायल अपने निपल पर साहिल की जीभ और तालू के बीच के दबाव को महसूस करते हुए गरम होने लगी….साहिल पायल के ऊपेर झुका हुआ बेड पर बैठा था..जिससे थोड़ी ही देर मे साहिल के गर्दन दर्द करने लगी….

और साहिल ने अपने मूह से पायल का मोटा काला निपल बाहर निकाल दिया… पायल ने अपनी मदहोशी से भरी आँखों को खोल कर साहिल की तरफ देखा, और मदहोशी से भरी मस्त आवाज़ मे पूछा..”क्या हुआ साहिल”

साहिल: वो मेरी गर्दन मे दर्द होने लगा है…

पायल: मुस्कराते हुए) तो एक काम कर मेरी तरफ मूह करके लेट जा…

साहिल पायल की तरफ मूह करके करवट के बल लेट गया, और पायल ने भी एक बार वंश पर नज़र मारते हुए, साहिल की तरफ करवट बदल ली….फिर अपने एक हाथ से अपनी चुचि को पकड़ कर साहिल के होंटो पर लगा दिया…साहिल ने भी झट से मूह खोल कर उसके मोटे काले निपल को मूह मे भर कर चूसना शुरू कर दिया…पायल फिर से मस्ती मे सिसक उठी, उसने अपनी एक बाजू उठा कर साहिल की कमर पर रखते हुए, उसे अपनी तरफ खेंचते हुए अपने से एक दम चिपका लिया….और फिर अपनी एक टाँग को उठा कर साहिल की जाँघ पर रखते हुए अपनी गान्ड को आगे की ओर खिसकने लगी…

साहिल पूरे जोश के साथ पायल की चुचियो को चूस रहा था….और पायल अपने नथुनो से तेज़ी से साँस लेते हुए छोड़ रही थी….उसकी नाक से तेज आवाज़ आ रही थी…और साथ मे पायल के मूह से दबी हुई हलकी सिसकारियाँ निकल रही थी….:उंह साहिल आह सीईईई पीए लीयी बेटा मेरा दूध आहह”

पायल नीचे से धीरे-2 अपनी गान्ड को आगे सरकाती जा रही थी….पायल ने एक टाँग उठा कर साहिल की जाँघ पर रखी हुई थी….जैसे-2 पायल अपनी कमर को आगे सरका रही थी….वैसे वैसे उसकी टाँग साहिल की जाँघ से ऊपेर उठाते हुए उसकी कमर तक जा पहुचि…..और फिर एक दम अचानक से पायल के पूरे बदन मे करेंट सा दौड़ गया….पायल की आँखें भारी होकर बंद होने लगी….और उसने सिसकते हुए साहिल को अपने से और चिपका लिया…क्योंकि साहिल का 5 इंच का लंड तन कर सीधा पायल की चूत पर सलवार के ऊपेर से जा लगा था…

पायल अक्सर घर पर सलवार के नीचे पैंटी नही पहनती थी….जैसे ही साहिल के निक्कर मे तना हुआ लंड उसकी चूत के ऊपेर लगा…वो एक दम से मदहोश हो गयी…उसकी चूत की फांके फड़फड़ाने लगी…और चूत ने अपना प्यार उगलना शुरू कर दिया…पायल के कमर ने झटके खाने शुरू कर दिए….जिससे साहिल का लंड उसकी चूत की फांको पर रगड़ खा जाता..

और पायल एक दम सिसक उठी…..साहिल भी अपने निक्कर के अंदर तने हुए लंड पर पायल की चूत की गरमी को महसूस कर रहा था….पायल अब पूरी तरह गरम हो चुकी थी….और आज मान मर्यादा के सभी बंधन तोड़ देना चाहती थी…पर शायद अभी होनी को कुछ और ही मंजूर था. तभी बाहर मैन गेट पर किसी ने नॉक किया तो, पायल एक दम से हड़बड़ा गयी…और साहिल भी…उसने साहिल को पीछे धकेलते हुए, अपनी ब्रा को ठीक किया, और फिर कमीज़ ठीक करने के बाद बुदबुदाते हुए बोली, “पता नई कॉन आ मरया इस टाइम”

फिर पायल खीजते हुए बाहर चली गयी….जब उसने गेट खोला तो, देखा सामने गीता और उसकी मा नीलम खड़ी थी…पता नही आज क्यों वो अपनी मा और गीता को देख कर खुस नही थी….पर फिर भी होंटो पर जबरन मुस्कान लाते हुए पायल ने उन्हे अंदर आने को कहा….